हरियाणा के 167 इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश पर लग सकती www.guide4info.com रोक

इंजीनियरिंग छात्र सतर्क रहें, हरियाणा के 167 कॉलेजों में प्रवेश पर लग सकती रोक

प्रदेश के 167 इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन पर अगले शिक्षण सत्र से रोक लग सकती है। यह सबसे महत्वपूर्ण है कि छात्रों को प्रवेश लेने से पहले इंजीनियरिंग कॉलेज के विवरण की जांच करनी चाहिए. आप हरियाणा कॉलेजों के सभी विवरण हरियाणा तकनीकी शिक्षा संस्थान की वेबसाइट पर प्राप्त कर सकते हैं.

हरियाणा टेक्निकल एजुकेशन सोसायटी का यह सब 167 कॉलेज एडमिशन डाटा मैनेजमेंट फीस का 50 लाख रुपये से ज्यादा पैसे दबाकर बैठे हुए हैं।

इससे पहले ही प्रमुख सचिव ने ज्वाइंट डायरेक्टर से इन कालेजों को नोटिस जारी कराया है. और इनको फीस जमा नहीं करने पर 2020-21 के सत्र की काउंसिलिंग से बाहर कर दिया जाएगा.

जो इन कॉलेजों में प्रवेश लेने वाले छात्रों को प्रभावित करेगा. इस तरह प्रदेश के 167 इंजीनियरिंग कॉलेजों पर फीस जमा नहीं करने पर ताला भी लग सकता है। सभी छात्रों का करियर नष्ट हो जाएगा, जो इन कॉलेजों से संबंधित हैं या वे इन कॉलेजों में प्रवेश लेंगे.

हरियाणा स्टेट टेक्निकल एजुकेशन सोसायटी, पंचकुला ने वर्ष 2016 में फैसला लिया था कि सभी इंजीनियरिंग कॉलेजों को 200 रुपये प्रति छात्र के हिसाब से एडमिशन डाटा मैनेजमेंट फीस जमा करानी होगी.

यह फीस सेल्फ फाइनेंस कॉलेजों के साथ ही एडमिशन होने पर देनी होगी और यह सेंट्रेलाइज एडमिशन के साथ ही कालेज लेवल के एडमिशन पर देनी होगी.

जरूर पढ़े: भारत के लिए गर्व के क्षण। अक्षय कुमार को फोर्ब्स की दुनिया में सबसे अधिक भुगतान पाने वाले अभिनेताओं की सूची में 4 वां स्थान मिला है

हरियाणा तकनीकी शिक्षा सोसायटी की वेबसाइट पर इंजीनियरिंग कॉलेजों और विश्वविद्यालयों के सभी विवरण हैं। छात्रों को यह देखना चाहिए कि आपके कॉलेज का नाम इस सूची में है या नहीं. अगर आपको कॉलेज का नाम नहीं मिलता है। फिर प्रवेश न लें। और एआईसीटीई,
पंचकुला को सूचित करें. ताकि वे उस कॉलेज के खिलाफ कार्रवाई कर सकें.

इस खबर को छात्रों और अपने रिश्तेदारों के साथ भी साझा करें। आपकी एक मदद छात्रों को भविष्य में मदद कर सकती है. हम सभी छात्रों से भी अनुरोध करते हैं कि इस खबर को अपने दोस्तों के साथ साझा करें।

जरूर पढ़े: यह छोटा लड़का बहुत प्रतिभाशाली है, मुंबई में 13 साल की उम्र में अपनी खुद की पार्सल कंपनी शुरू की है

Scroll to Top